Wikia

LyricWiki

Niyaz:Dilruba Lyrics

1,851,883pages on
this wiki
Talk0
StarIconGreen
LangIcon
Dilruba

This song is by Niyaz and appears on the album Niyaz (2005).

तक़दीर से क्या गिला, खुदा की मर्ज़ी

( दुनिया भी अजब सराय फानी देखी
हर चीज यहाँ की आनी जानी देखी ) - २

( जो आके ना जाये वो बुढ़ापा देखा
जो जाके ना आये वो जवानी देखी ) - २
जो जाके ना आये वो जवानी देखी

लेले लेले ले

( हर शै में जमाल-ऐ-दिलरुबा को देखा
हर चीज में शान-ऐ-किबरियाको देखा ) - २
मखलूक में खालिक का नजर आया जिसको
उस देखने वाले ने खुदा को देखा - २

( दुनिया भी अब सराय फानी देखी
हर चीज यहाँ की आनी जानी देखी ) - २
( जो आके ना जाये वो बुढ़ापा देखा
जो जाके ना आये वो जवानी देखी ) - २
जो जाके ना आये वो जवानी देखी

लेले लेले ले
( हर शै में जमाल-ऐ-दिलरुबा को देखा
हर चीज में शान-ऐ-किबरिया को देखा ) - २

जिसको यह लाइन समझ नहीं आई
उस देखने वाले ने खुदा को देखा - २

लेले लेले ले

तकदीर से क्या गिला खुदा की मर्ज़ी
जो कुछ भी हुआ, हुआ खुदा की मर्ज़ी
हमजद हर बात में कहांतक क्यों ?
हर क्यों की इन्तहां, खुदा की मर्ज़ी

Around Wikia's network

Random Wiki